Home Serial Review Tarak Mehta Ka Ulta Chashma

Tarak Mehta Ka Ulta Chashma

Tarak Mehta Ka Ulta Chashma

अब सब कुछ बेच बाच कर जेठालाल परिवार के साथ भचाऊ जाने का प्लान भी बना चुके हैं. तो क्या वाकई जेठालाल की दुकान जगतराम खरीदने जा रहे हैं और अब गड़ा इलेक्ट्रॉनिक्स(Gada Electronics) का बोर्ड हटकर लग जाएगा जगतराम इलेक्ट्रॉनिक्स का बोर्ड?

 

तारक मेहता का उल्टा चश्मा(Taarak Mehta Ka Ooltah Chashmah) में जेठालाल(Jethalal) इन दिनों बहुत ही परेशान हैं, लॉकडाउन के बाद आर्थिक संकट का साया जेठालाल और उनकी दुकान पर मंडरा रहा है. नौबत गड़ा इलेक्ट्रॉनिक्स को बेचने तक की आ गई है.

और अब सब कुछ बेच बाच कर जेठालाल परिवार के साथ भचाऊ जाने का प्लान भी बना चुके हैं. तो क्या वाकई जेठालाल की दुकान जगतराम खरीदने जा रहे हैं और अब गड़ा इलेक्ट्रॉनिक्स(Gada Electronics) का बोर्ड हटकर लग जाएगा जगतराम इलेक्ट्रॉनिक्स का बोर्ड? 

पिछले एपिसोड में दिखाया गया है कि जेठालाल दुकान बेचने का फैसला ले लेते हैं और Shop on Sale का बोर्ड भी दुकान में लग जाता है. जिसे देखकर एक व्यापारी  जेठालाल के घर आते हैं और दुकान को खरीदने की इच्छा जताते हैं. आखिरकार दुकान की डील 50 लाख में फाइनल हो जाती है.

और अगले दिन वो व्यापारी दुकान की चाबी लेने पहुंच भी जाते हैं और गड़ा इलेक्ट्रॉनिक्स को बार्ड हटाकर लगा दिया जाता है जगतराम इलेक्ट्रॉनिक्स का बोर्ड. लेकिन चाबी देने से बाघा इंकार कर देता है क्योंकि वो नहीं चाहता कि दुकान बिक जाए.

और ये सब होता है जेठालाल के सपने में. जी हां…आर्थिक संकट जेठालाल पर मंडरा रहा है ये बात पूरी तरह सही है लेकिन फिलहाल दुकान बेचने को लेकर जेठालाल सपना ही देख रहे हैं. और ये एक राहत भरी बात है. 

यूं तो जब जब जेठालाल परेशानियों से घिर हैं उन्होंने हर परेशानी का तोड़ निकाल लिया है तो क्या इस बार भी वो इन झंझटों से निकल जाएंगे या फिर इस बार वाकई किसी के पास इसका कोई हल नहीं मिलेगा.

खासतौर से जेठालाल के फायर ब्रिगेड तारक मेहता इस बार अपने परम मित्र को इस समस्या से निकाल पाएंगे या नहीं. ये देखना दिलचस्प होगा. खैर, जेठालाल कितने ही परेशान क्यों न हो. दर्शकों को हंसी की डोज़ ये सीरीयल देता रहेगा. क्योंकि तारक मेहता का उल्टा चश्मा का काम ही आप लोगों के चेहरों पर हंसी लाना.